सी०आर०सी० - लखनऊ के बारे में

समेकित क्षेत्रीय कौशल विकास, पुनर्वास एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण केंद्र(सी.आर.सी.)-लखनऊ, पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय शारीरिक दिव्यांगजन संस्थान(पी.डी.यु.एन.आई.पी.पी.डी.),नई दिल्ली (एक स्वायत्त निकाय) की वाह्य आर्म है I पी.डी.यु.एन.आई.पी.पी.डी.,नई दिल्ली, दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार के प्रशासनिक और वित्तीय नियंत्रण के तहत कार्य करता है। सी.आर.सी.-लखनऊ फिजियोथेरेपी, व्यावसायिक चिकित्सा, वाक् एवं श्रवण, प्रोस्थेसिस और ऑर्थोसिस, नैदानिक ​​मनोविज्ञान और विशेष शिक्षा सेवाओं जैसी व्यापक पुनर्वास सेवाएं प्रदान कर रहा है। इसके अलावा केंद्र दिव्यांग व्यक्तियों को गतिशीलता और श्रवण यंत्र, व्यावसायिक मार्गदर्शन और परामर्श प्रदान करने का कार्य करता है। केंद्र उत्तर प्रदेश राज्य की दिव्यांग आबादी के लिए आउट-रीच कैंप के साथ-साथ कौशल-प्रशिक्षण कार्यक्रम भी आयोजित करता है। केंद्र के द्वारा विशेष शिक्षा में डिप्लोमा भी संचालित किया जा रहा हैI यह द्विवर्षीय डिप्लोमा विशेष रूप से दृष्टि-दिव्यांगता एवं बौद्धिक विकासात्मक दिव्यांगता में विशिष्टता प्रदान करता है, जिसमे प्रतिवर्ष 35 छात्रो की संख्या निर्धारित हैI

खबरें तथा गतिविधियाँ

21-02-2024

13-02-2024

13-02-2024

25-01-2024

10-01-2024

08-01-2024

08-01-2024